लक्ष्य/दूरदर्शिता

लक्ष्य

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे औद्योगिकी विकास प्राधिकरण की स्थापना उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा यू.पी. औद्योगिक क्षेत्र विकास अधिनियम 1976 के तहत दिसम्बर 2007 में उत्तर प्रदेश राज्य एक्सप्रेसवे के विकास हेतु किया गया था। यह संगठन एक नवीन स्थापित संगठन है, जिसमें कर्मठ एवं कम कर्मचारी कार्यत हैं, जिन्हें राज्य राजस्व विभाग/पीडब्लूडी से संविद/कुर्की आधार पर रखा गया है, इनमें से कुछ रिटेनरशिप आधार पर या सर्विस प्रोवाइडर द्वारा भी तैनात किये गए हैं।

दूरदर्शिता

उत्तर प्रदेश की इस आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे, प्राथमिकी परियोजना का मुख्य फायदा यह होगा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश और राज्य की राजधानी लखनऊ के बीच का आवागमन काफी हद तक सुविधाजनक हो जाएगा।

इस एक्सप्रेसवे के बनने से हस्तकरघा, खाद्य प्रसंस्करण, कोल्ड स्टोरेज, भण्डारण एवं दूध उद्योग के विकास एवं इन्हें स्थापित करने के अवसर भी बढ़ जाएंगे। इस परियोजना से नए औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान, शैक्षिक संस्थान, मेडिकल संस्थान एवं नए उपग्रहों एवं स्मार्ट सिटी को स्थापित करने में भी मदद मिलेगी। यूपीडा इस परियोजना को 22 महीनों में समाप्त करने का लक्ष्य निर्धारित कर चुका है।

इस एक्सप्रेसवे परियोजना के अतिरिक्त, यूपीडा ईपीसी मोड के अंतर्गत एक अन्य एक्सेस कंट्रोल्ड एक्सप्रेसवे परियोजना पर भी कार्य कर रहा है, जिसका नाम “समाजवादी पूर्वांचल एक्सप्रेसवे परियोजना” है। पूर्वी उत्तर प्रदेश एवं राज्य की राजधानी लखनऊ को जोड़ने वाली यह एक्सप्रेसवे परियोजना पर भी काफी तेजी से काम चल रहा है।